Write For Us

Rajasthan Temple Demolition | 'मंदिर को गिराने का कोई प्रस्ताव BJP ने पास नहीं किया?': KK Sharma

Sponsored Post Vitamin D2 Canada Persia
36 Views
Published
राजस्थान के अलवर में तीन सौ साल पुराने मंदिर को तोड़े जाने को लेकर विरोध प्रदर्शन तेज होता जा रहा है. इसको लेकर लोगों में काफी गुस्सा देखा जा रहा है. भारतीय जनता पार्टी बुधवार को इसके खिलाफ आक्रोश रैली निकाल रही है. इस विरोध-प्रदर्शन में बड़ी संख्या में हिंदू संगठन और संत समाज के लोग शामिल हैं. प्रदर्शन के दौरान जय श्रीराम के नारे लगाए जा रहे हैं.

मंदिर तोड़ने पर गहलोत सरकार ने की कार्रवाई

अशोक गहलोत सरकार ने राजगढ़ के नगर पालिका अध्यक्ष समेत तीन लोगों को सस्पेंड कर दिया है. अलवर के राजगढ़ में मंदिर पर बुलडोजर चलाने के मामले में तीन बड़े लोगों पर गाज गिरी. राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार ने बड़ा एक्शन लिया है और राजगढ़ नगर पालिका अध्यक्ष सतीश दुहरिया को सस्पेंड कर दिया है. राजगढ़ नगर पालिका के अधिशासी अधिकारी बनवारीलाल मीना को भी सस्पेंड कर दिया गया है. इसके अलावा एसडीएम केशव कुमार मीना को भी सस्पेंड किया गया.

क्या है पूरा मामला?

राजगढ़ के सराय बाजार में सड़क चौड़ी करने के मामले में नगर पालिका प्रशासन द्वारा की गई कार्रवाई में करीब सौ से ज्यादा दुकानों-मकानों सहित तीन मंदिरों को भी तोड़ दिया गया. इसके बाद यह मामला पूरे देश में सुर्खियां बन गया. इस मामले में सियासत भी खूब हुई. दोनों राजनीतिक दलों ने एक दूसरे पर आरोप लगाए. नगर पालिका में बोर्ड बीजेपी का है इसलिए कांग्रेस ने इसे बीजेपी की कार्रवाई बताया तो बीजेपी ने स्थानीय विधायक और सरकार के दबाव में प्रशासनिक कार्रवाई बताया.

#HindiNews #ABPNews #LatestNews
Category
Asia
Tags
rajasthan bulldozer, bulldozer, alwar
Sign in or sign up to post comments.
Be the first to comment